उत्तराखंड: इस अस्पताल के 57 कर्मचारी मिले कोरोना पॅाजिटिव, मरीजों के इलाज में आएगी समस्या

नैनीताल: उत्तराखंड में कोरोना का कहर लगातार बरकरार है। आम जनता के साथ-साथ अब यह वायरस कोरोना वॉरियर्स को भी अपनी चपेट में ले रहा है। इस सबके बीच हल्द्वानी स्थित सुशीला तिवारी अस्पताल से एक बड़ी खबर सामने आ रही है, अस्पताल के 57 से भी अधिक कर्मचारी कोरोना पॅाजिटिव आए हैं। जिसके बाद सभी को स्वास्थय विभाग द्वारा आइसोलेट कर दिया गया है।

बता दें कि अस्पताल में 57 से अधिक कर्मचारियों में कोरोना की पुष्टि हुई है। जैसे ही ये जानकारी सामने आई उसके तुरन्त बाद सभी कर्मचारियों को स्वास्थय विभाग द्वारा आइसोलेट कर दिया गया है। 

मिली जानकारी के अनुसार 57 स्टाफ में से मेडिकल कॉलेज में पढ़ने वाले पीजी के 30 छात्र, 6 सीनियर कंसलटेंट डॉक्टर, 8 नर्सिंग स्टाफ, 7 पैरामेडिकल स्टाफ और 6 ऑफिस स्टाफ शामिल हैं। इनके संपर्क में आने वाले सभी अन्य लोगों की भी जांच करवाई जा रही है।

कोरोना से सबसे ज्यादा खतरा अस्पतालों में ड्यूटी करने वाले डॉक्टरों एवं अन्य कर्मचारियों को है।अस्पतालों में डॉक्टर एवं अन्य स्टाफ लगातार कोविड पेशंट के संपर्क में आते हैं जिस वजह से उन तक यह संक्रमण आसानी से पहुंच रहा है। 

प्रदेश के कई अस्पतालों में कोरोना बम फूट चुका है और भारी संख्या में डॉक्टरों एवं कर्मचारियों के अंदर कोविड की पुष्टि हुई है। बीते बुधवार को प्रदेश के अंदर 6,084 पॉजिटिव केस आए हैं, वहीं 108 मरीजों ने कोरोना के चलते दम तोड़ दिया। 

बात करें नैनीताल जिले कि तो जिले में अब तक 20,868 पॉजिटिव केस पाए गए हैं जिनमें से 14,908 मरीज स्वस्थ हो गए हैं और अब जिला में 5,589 एक्टिव केस बचे हुए हैं। जिले में कोरोना के चलते अब तक 371 मरीजों ने दम तोड़ दिया है।

0/Post a Comment/Comments

Stay Conneted

Hot Widget