उत्तराखंड: बुरे फंसे सरकार, अब अपनों ने ही घेरा बोले जल्द दो मंत्री

फाइल फोटो
देहरदून: उत्तराखंड में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ही अभी तक प्रदेश के लिए अलग स्वास्थ्य मंत्री बनाने की बात कर रहे थे. लेकिन कोरोना से प्रदेश के बिगड़ते हालातों को देखते हुए तीरथ सिंह सरकार के भीतर से भी यह मांग उठना शुरू हो गई है.

यह भी पढ़ें:उत्तराखंड: 18 से 44 आयुवर्ग का टीकाकरण शुरू, मुख्यमंत्री ने किया शुभारंभ

गौरतलब है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति में कोई सुधार होता नजर नहीं आ रहा. स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार और सुधार करने के लिए कांग्रेस व विपक्षी दल ने अलग से स्वास्थ्य मंत्री बनाने की मांग की थी. लेकिन कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने भी अलग स्वास्थ्य मंत्री की मांग कर दी है. उनका कहना है कि मुख्यमंत्री के पास कई विभाग और अपनी व्यस्तताएं हैं. इसी कारण स्वास्थ्य मंत्रालय की कमान अलग मंत्री को दी जानी चाहिए. बीते कुछ दिनों कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने तीरथ सिंह को पत्र लिखकर अलग से स्वास्थ्य मंत्री की मांग की थी. जिसमें उन्होंने लगातार गंभीर हो रहे हालातों पर चिंता की थी और अनुरोध किया था कि हलातों में सुधर के रणनीति की ओर ज्यादा ध्यान दिया जा सकता है.

यह भी पढ़ें:उत्तराखंड: युवा रहें सतर्क, कोरोना का ये नया रूप ले चुका है कई जानें

जानकारों का कहना है  कि वर्तमान में कोरोना संक्रमण के फैलने से कोविड केयर सेंटरों पर दबाव बढ़ रहा है। अस्पतालों में ऑक्सीजन बेड, आईसीयू और वेंटिलेटर की मांग में लगातार बढ़ती जा रही है।

0/Post a Comment/Comments

Stay Conneted

Hot Widget