उत्तराखंड: विवादों में रहने वाले बीजेपी विधायक प्रणव सिंह चैंपियन बुरे फसें, जानिए क्या है पूरा मामला

फाइल फोटो: प्रणव सिंह चैंपियन और वैक्सीन लेते हुए उनका बेटा दिव्य

हरिद्वार:
उत्तराखंड के खानपुर से तालुक्क रखने वाले बीजेपी के विधायक प्रणव सिंह चैंप‍ियन एक बार फिर चर्चा का विषय बन गए है. उन्होंने अपने बेटे को समय से पहले वैक्सीन देने की तस्वीर सोशल मीडिया पर डाली है. जिसको लेकर आम आदमी पार्टी ने बीजेपी विधायक को घेर लिया है. गौरतलब है कि प्रदेश में 18 से 44 साल के लोगों को वैक्सीन 10 मई से लगना शुरू हुई है. लेकिन प्रवण ने अपने 25 साल के बेटे दिव्य प्रताप सिंह चैंप‍ियन की 5 मई को एक फोटो सोशल मीडिया पर वायरल की, जिसमें वह वैक्सीन लगवाते नजर आ रहे हैं. जिसको लेकर व‍िपक्षी दलों के नेता ने सवाल उठाना शुरू कर दिया है कि प्रताप को वैक्सीन समय से पहले कैसे लग गई. 

यह भी पढ़ें:

देहरादून के एक स्टाफ ने बताया कि प्रणव अपनी पत्नी और बेटे के साथ चिकित्सा अधीक्षक के घर पहुंचे थे और डॉक्टरों के ऊपर बेटे को वैक्सीन की डोज देने के लिए दबाव बनाया. इसके अलावा आप पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राजू मौर्य ने बताया कि उन्होंने यह मामला सामने आने के बाद हरिद्वार जिलाधिकारी के माध्यम से सीएम तीरथ सिंह रावत को शिकायत कर जांच की मांग की थी. जिसमें उन्होंने वर्तमान सरकार पर प्रभावशाली और आम लोगों के लिए अलग व्यवस्था करने का आरोप लगाया है. इसके साथ यह भी आरोप लगाया है कि विधायक के बेटे को कोवैक्‍सीन का डोज द‍िया गया, जबकि राज्य के अधिकांश लोगों को कोवि‍शील्‍ड वैक्सीन दिया जा रहा था। क्यूंकि कोवैक्‍सीन राज्‍य के चुन‍िंदा केंद्रों पर ही उपलब्‍ध है।

यह भी पढ़ें:

इस बारे में कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन ने कहा कि उनके बेटे को वैक्सीन की डोज दी गई, क्योंकि वह वायरस के प्रसार को रोकने में सक्रिय रूप से शामिल एक फ्रंटलाइन कार्यकर्ता है। वहीं प्रदेश भाजपा मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने कहा कि चाहे कोई मंत्री हो या विधायक, केंद्र द्वारा जारी कोरोनावायरस दिशानिर्देशों का पालन करना चाहिए। हमें कोरोनोवायरस को एक साथ हराना है।

0/Post a Comment/Comments

Stay Conneted

Hot Widget