उत्तराखंड: सीएम तीरथ रावत का ट्वीट, अपने ही बोले अधिक व्यस्त रहते हैं मुख्यमंत्री अलग हो स्वास्थ विभाग

अस्पताल का निरिक्षण करते हुए सीएम तीरथ रावत

देहरादून:
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत किसी न किसी कारण से सुर्ख़ियों में बने हुए है।  एक तरफ तो तीरथ सिंह के अपने ही गुट के लोग मुख्यमंत्री के व्यस्त होने का हवाला देते हुए स्वास्थ्य विभाग को अलग करने की बात कहे रहे हैं, तो वहीं दूसरी ओर मुख्यमंत्री सोशल मीडिया के जरिए लोगों के लिए अपनी चिंता व्यक्त कर रहे हैं। 

यह भी पढ़े:उत्तराखंड भाजपा के बड़े नेता का कोरोना से निधन, पार्टी में शोक की लहर

तीरथ सिंह रावत ने सोशल मीडिया पर अपनी तस्वीर के साथ जानकारी साझा की है, जिसमें वह हल्द्वानी में संक्रमण की रोकथाम और मरीजो के उपचार के लिए लिए की गई व्यवस्थाओं का निरक्षण कर रहे हैं।  इसके साथ ही उनका कहना है कि संक्रमण पर रोक लगाने के लिए प्रभावी तरीका वैक्सीनेशन है।  जिसका प्रदेश में माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में तीसरा दौर शुरू हो चूका है।  इसके तहत प्रदेश के 50 लाख युवाओं का टिका कारण होना है।  

न्याय पंचायत तक हो टीकाकरण का विस्तार:

आगे वह जानकारी साझा करते हुए कहते हैं कि "मैंने निर्देश दिए हैं कि टीकाकरण अभियान का विस्तार न्याय पंचायत स्तर तक किया जाए। अभियान तेजी पकड़े इसके लिए हर न्याय पंचायत में शिविर लगाए जाएं। इसके साथ ही टीकाकरण के लिए बनाए गए सभी केन्द्रों पर बुजुर्गों व दिव्यांगों की अलग से व्यवस्था की जाए ताकि उन्हें किसी भी प्रकार की परेशानी ना हो। इस बारे में उन्होंने सभी प्रदेशवासियों से आग्रह भी किया है की सभी टीकाकरण के बाद भी मास्क और सैनिटाइजर का प्रयोग करें और कोविड प्रोटोकॉल का पूरा पालन करें.

यह भी पढ़ें:उत्तराखंड: रहस्यमयी बीमारी से एक ही गाँव के दस लोगों की जान गई, क्या है पूरा मामला

इसके अलावा उन्होंने स्वास्थ्यकर्मियों को प्रोत्साहन राशि देने की बात भी कही है और कहा है कि प्रदेश को कोरोना टीके के 3 लाख से अधिक खुराक प्राप्त हो चुके हैं।  जिससे व्यक्तियों के टीकाकरण अभियान में कोई अवरोध नहीं आएगा।  चिकित्सक और अन्य स्वास्थ्यकर्मी पूरी तरह से कोविड-19 के मरीजों के उपचार में जुटे हैं, जिन पर हम सभी को गर्व है। राज्य सरकार कोरोना की रोकथाम के लिए बजट की कोई कमी नहीं होने देगी। इसके अलावा अधिकारियों को अस्पतालों में किसी भी स्रोत से नए चिकित्सकों की तैनाती करने के निर्देश दिए हैं।

0/Post a Comment/Comments

Stay Conneted

Hot Widget