उत्तराखंड: पूर्व सीएम त्रिवेंद्र ने साधा तीरथ सरकार के मंत्री पर निशाना, बोले अनुभवहीन है मंत्री

फाइल फोटो

देहरादून : प्रदेश में कोरोना को लेकर कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी के बयान पर पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने करारा तंज कसते हुए कहा है कि जोशी अभी अनुभवहीन हैं। वहीं मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी तक उन्होंने जोशी का बयान नहीं सुना है। पर इसके बावजूद उनका कहना है कि जोशी को अभी काफी कुछ सीखने की जरूरत है और उन में अनुभव की कमी है। बातचीत के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री ने बताया कि 2017 में  प्रदेश भर में 1034 डाक्टर थे। जिनकी संख्या अब बढ़ाकर 2600 की गई है। वहीं  स्वास्थ्य के क्षेत्र में काफी सुधार हुआ। साथ ही उन्होंने माना कि कोरोना की दूसरी लहर की कल्पना किसी ने नहीं की थी। पर इसके बावजूद उनकी सरकार में 27000 बेड की व्यवस्था की गई थी। 

यह भी पढ़ें:उत्तराखंड: CM तीरथ ने उद्योगपतियों से मांगी मदद, विश्वस्तरीय सुविधायुक्त अस्पताल बनाएगा बालाजी बिल्डवेल

सीएम पद से हटाए जाने पर क्या बोले तीरथ:

बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री  को पद से हटाए जाने की एक वजह कुंभ मेला के आयोजन को सीमित करना बताया जा रहा था। इस सवाल पर पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसा बिल्कुल नहीं है। उन्होंने बताया कि आलाकमान ने उन्हें आदेश दिया और उन्होंने आदेश को स्वीकार कर लिया। कुंभ इसकी कोई वजह नहीं है।

कोविड कर्फ्यू पर क्या बोले पूर्व मुख्यमंत्री-

पूर्व मुख्यमंत्री ने कोविड कर्फ्यू का समर्थन करते हुए कहा कि पिछले तीन दिन में कोरोना संक्रमितों के मामले कम हुए हैं। ऐसे में प्रशासन को और सख्ती दिखानी होगी। उन्होंने कहा कि कोविड कर्फ्यू को अभी और लंबा खींचना पड़ेगा। साथ ही कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर पर भी नजर रखनी होगी।उन्होंने कहा कि हमारे वरिष्ठ नेताओं को बयानबाजी से भी बचना पड़ेगा। जनता वरिष्ठ नेताओं के बयानों को बहुत गौर से लेती है।

अलग स्वास्थ्य मंत्री की मांग पर क्या बोले पूर्व मुख्यमंत्री -

राज्य में स्वास्थ्य विभाग का जिम्मा फिलहाल मुख्यमंत्री के पास है। ऐसे में काफी समय से विपक्ष और खुद के लोगों की तरफ से अलग स्वास्थ्य मंत्री की मांग लगातार उठ रही है। वहीं कोरोना संकट में अलग स्वास्थ्य मंत्री की मांग पर पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने कहा कि मुख्यमंत्री के पास जो मंत्रालय होता है, वह ज्यादा बेहतर ढंग से चलता है।

यह भी पढ़ें:उत्तराखंड में बिगड़ेगा मौसम , इन जिलों के लोग हो जाएं सतर्क

 विपक्ष के निशाने पर भाजपा - कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने वीआईपी को प्राथमिकता दिए जाने के मामले में भाजपा पर निशाना साधा है। साथ ही  दोनों दलों ने कोरोना महामारी में भी सियासत करने का आरोपा भी भाजपा पर लगाया है।उधर, सत्तारूढ़ भाजपा में इसे लेकर विचार हो रहा है। अब संगठन की ओर से पार्टी के सभी जनप्रतिनिधियों, पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को संदेश साफ करने की तैयारी है कि कोविडकाल में जनता सर्वोपरि है। इसलिए ऐसे हालात से बचा जाए जो जनता की नाराजगी की वजह बनें। 

उद्घाटनों और गैरजरूरी बयानबाजी पर रोक लगाए सरकार-

कांग्रेस ने प्रदेश सरकार से कहा है कि वह कोविड अस्पतालों, टीकाकरण आदि में दिखावे की संस्कृति से बाज आए। उद्घाटन के नाम पर हो रहे ड्रामे से लोगों को परेशानी ही अधिक हो रही है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के मुताबिक टीकाकरण अभियान के शुभारंभ के नाम पर ही यह वीआईपी कल्चर का प्रदर्शन खुलकर सामने आया। उद्घाटनों के कारण लोगों को टीका लगाने के लिए दो-दो घंटे का इंतजार करना पड़ा।

0/Post a Comment/Comments

Stay Conneted

Hot Widget