उत्तराखंड: तीरथ सरकार हुई विफल तो सेना को किया याद, जल्द हो सकता है बड़ा फैसला

फाइल फोटो: भारतीय सेना और सीएम तीरथ रावत

देहरादून
: भारतीय सेना के शौर्य और काबीलियत से  तो पूरी दुनिया बाकिफ है. संकट देश के भीतर हो या सीमा पर भारतीय सेना हमेशा तत्परता दिखाती है. अब यही सेना प्रदेश को कोरोना से निजात दिलाने के लिए आ सकती है. बिगड़ते हालातों को देखते हुए अब सेना मोर्चा संभाल सकती है.

यह भी पढ़ें:उत्तराखंड: देहरादून ने कोरोना संक्रमण में मायानगरी मुंबई को पछाड़ा, हालात हुए बेकाबू 

सेना की गढ़वाल और कुमाऊँ रेजिमेंट संभाल सकती है मोर्चा:

उत्तराखंड सरकार में कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत ने इसके संकेत देते हुए कहा कि अगर हालात नहीं संभले तो व्यवस्थाओं की कमान सेना को दी जा सकती है. हरक सिंह रावत ने कहा कि स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही है. उन्होंने कहा कि इस संबंध में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह  से भी बातचीत चल रही है. सेना की गढ़वाल और कुमाऊं रेजीमेंट को फील्ड में उतारा जा सकता है. उन्होंने कहा कि खुद उन्होंने गर्वनर बेबी रानी मौर्य और सीएम तीरथ सिंह रावत से इस संबंध में बातचीत की है. मुख्यमंत्री स्वयं शुक्रवार को गर्वनर से इस संबंध में मुलाकात करेंगे.

यह भी पढ़ें:उत्तराखंड: AK 47 लेकर भागा इनामी बदमाश गिरफ्तार, काफी दिनों से थी तलाश

सेना से मदद के सवाल पर कन्नी काटते नजाए आए सीएम तीरथ:

 सीएम तीरथ सिंह रावत से जब सेना की मदद लेने के  संबंध में पूछा गया तो वे सवाल के सीधे जवाब से बचते हुए नजर आए. सीएम ने कहा कि DRDO की मदद से वर्तमान में हल्द्ववानी और ऋषिकेश में पांच-पांच सौ बेड के हॉस्पिटल तैयार किए जा रहे हैं. इन हॉस्पिटलों में ऑक्सीजन प्लांट भी लगाए जा रहे हैं.


0/Post a Comment/Comments

Stay Conneted

Hot Widget