उत्तराखंड: महाकुम्भ के कोरोना विस्फोट से सकते में सरकार, कैंची धाम मेला किया रद्द

 


फाइल फोटो

देहरादून : प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर इतनी भयावक है कि इसको मद्देनजर रखते हुए कैंची धाम ट्रस्ट ने नीम करौली बाबा के धाम में होने वाले वार्षिक मेले के आयोजन से इनकार कर दिया है। ये फैसला संक्रमण फैलने के खतरे को ध्यान में रखते हुए लिया गया है।

यह भी पढ़े:उत्तराखंड: पुलिस ने लिया दूल्हे को गियर में, काट दिया चालान

बता दें कि  नैनीताल जिले के भवाली नगर के करीब स्थित नीम करौली बाबा के कैंची धाम में पिछले साल कोरोना के कारण मेला नहीं लग पाया था।   वहीं श्रद्धालुओं को इस बार आस थी कि वे अबकी बार बाबा के दरबार में जाकर आर्शीवाद लेकर मेले का लुत्फ़ उठा पाएंगे लेकिन कोरोना की दूसरी लहर के और घातर सिद्ध होने के कारण धाम ट्रस्ट ने इस बार भी मेले का आयोजन करने से इंकार कर दिया है।

यह भी पढ़ें:उत्तराखंड: दहेज़ के लिए उतारा बहु को मौत के घाट, ससुराल पक्ष को धर ले गई पुलिस

वहीं लोग कोरोना के हालात सुधरने और कुंभ मेले के सफलतापूर्वक संपन्न हुए शाही स्नान के बाद कैंची धाम मेले के आयोजन उम्मीद लगाए बैठे थे कि इस साल भले ही कम भक्त आएं पर मेला लगाने में बाधा नहीं आएगी। पर महाकुंभ में हुए कोरोना विस्फोट के कारण फिलहाल इस मेले को रद्द करना  ही ठीक है। वहीं महाकुंभ को प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर के आगमन का जिम्मेदार माना जा रहा है।

कैंची धाम का मेला इतने बड़े पौमाने पर लगता है कि यहां पर देश विदेश से हर साल लाखों की मात्रा में लोग शामिल होने आते हैं। ऐसे में अगर कैंची धाम के मेले का आयोजन होता है तो एक बार  फिर प्रदेश में कोरोना का विस्फोट होने का खतरा बड़ जाएगा। और जिस वजह से शायद प्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर का आगमन भी हो सकता है। फिलहाल प्रदेश में बनी नाज़ुक स्थिति को देखते हुए इस मेले को रद्द करना ही सही रहेगा।  

0/Post a Comment/Comments

Stay Conneted

Hot Widget