Good News: उत्तराखंड बना रोपवे निर्माण के लिए केंद्र संग समझौता करने वाला पहला राज्य बना उत्तराखंड

  


उत्तराखंड- उत्तराखंड के लिए बहुत बड़ी खुशखबरी है। रोपवे निर्माण के लिए सड़क, परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय, भारत सरकार के साथ अनुबंध करने वाला उत्तराखंड देश का पहला राज्य बन गया है। प्रदेश में सात स्थानों पर रोपवे निर्माण होने से निश्चित रूप से प्रदेश में पयर्टन को बढ़ावा मिलेगा। 

यह भी पढ़े: उत्तराखंड: कोरोना के बाद दिमागी बुखार का कहर जारी, युवती ने इलाज के दौरान तोड़ा दम

सड़क, परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय की नियंत्राणाधीन नेशनल हाईवे लॉजिस्टिक मैनेजमेंट लिमिटेड (एनएचएलएमएल) के द्वारा प्रथम चरण में केदारनाथ रोपवे, नैनीताल रोपवे, हेमकुंड साहिब रोपवे, पंचकोटी से नई टिहरी, औली से गौरसू, मुनस्यारी से खलिया टॉप तथा ऋषिकेश से नीलकंठ महादेव तक सात रोपवे के डीपीआर गठन एवं निर्माण की कार्यवाही राज्य सरकार के साथ मिलकर की जाएगी।

यह भी पढ़े: देवस्थानम बोर्ड: 22 महीने से चारधामों में चल रहा धरना हुआ स्थगित

बता दें कि उत्तराखंड में विभिन्न धार्मिक और साहसिक पयर्टन स्थल है। इन सभी सात रोपवे देश सहित विदेश के पर्यटकों के लिए भी आकर्षण का केंद्र बनेंगे और साथ ही साथ रोपवे निर्माण हो जाने के बाद तीर्थ यात्रियों को आसानी से कम समाय में पूरा दर्शन का लाभ प्राप्त होगा। 

यह भी पढ़े: Earthquake in Uttarakhand: उत्‍तराखंड में भूकंप के तेज झटकों से कांपी धरती ,चमोली रहा केंद्र

प्रदेश में रोपवे निर्माण के लिए सड़क, परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय भारत सरकार को नोडल विभाग बनाया गया है। ऐसे में रोपवे निर्माण के भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) की ओर से डीपीआर तैयार कर काम शुरू किया जाएगा। इन रोपवे के निर्माण से श्री केदारनाथ और हेमकुंड साहिब जैसे कई किलोमीटर पैदल मार्ग वाले स्थानों तक भी लोग आसानी से पहुंच सकेंगे। इसका सीधा लाभ महिलाओं, बुजुर्गों और दिव्यांग लोगों को मिलेगा।


0/Post a Comment/Comments

Stay Conneted

Hot Widget