वांछित माओवादी भास्कर पांडे हुआ गिरफ्तार, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर

 


देहरादून-  उत्तराखंड पुलिस ने प्रदेश में माओवादी गतिविधियों के ताबूत में आखिरी कील ठोंकते हुए सोमवार को कुख्यात माओवादी नेता भास्कर पांडे को गिरफ्तार कर लिया । पुलिस ने इसकी जानकारी दी। पुलिस प्रवक्ता ने अपमे जारी बयान में बताया है कि प्रदेश के आखिरी वांछित माओवादी पांडे को अल्मोड़ा पुलिस और उत्तराखंड विशेष कार्यबल (एसटीएफ) की एक संयुक्त कार्रवाई में हल्द्वानी रेलेवे स्टेशन के पास से तब गिरफ्तार किया गया जब वह एक कोरियर को पेनड्राइव और कुछ लिखित सामग्री देने जा रहा था ।

यह भी पढ़े: जंगल में घूमना पड़ा महंगा,सौड़ा-सरौली घूमने गए थे तीन दोस्त, एक युवक को हाथी ने पटक-पटककर मार डाला

बता दें कि पांडे 20,000 रू का इनामी अपराधी है और साथ ही साथ 2017 के अल्मोड़ा और नैनीताल में लोक संपत्ति अधिनियम और विधि विरुद्ध क्रियाकलाप निवारण अधिनियम के अंतर्गत तीन मुकदमे दर्ज हैं जिनमें वह फरार चल रहा था। साथ ही प्रवक्ता ने यह भी बताया कि वर्ष 2017 के विधानसभा चुनावों के दौरान पांडे के खिलाफ धारी तहसील में सरकारी जीप जलाने का भी आरोप है।  पुलिस ने हाल ही में पुलिस ने उस पर इनाम बढाकर 50,000 रू करने का प्रस्ताव भेजा था ।

यह भी पढ़े: उत्तराखंड: बहादुरी की मिसाल बनी महिला होमगार्ड , तीसरी मंजिल से चोर को धर दबोचा

भास्कर पांडे किसान आंदोलन में भी काफी सक्रिय था और उसे खीम सिंह बोरा का बेहद करीबी साथी माना जाता है जिसे उत्तर प्रदेश की एसटीएफ ने पकड़ा है। पुलिस ने बताया कि पांडे द्वारा भारत में कई जगह माओवाद से संबंधित प्रशिक्षण लिया गया और अपने कई साथियों के साथ मिलकर यहां अपने क्रियाकलापों को अंजाम देने की कोशिश की ।

यह भी पढ़े: देवभूमि एक बार फिर शर्मसार होने से बचा, घर के बाहर खेल रही मासूम से दुष्कर्म की कोशिश, परिजनों ने आरोपी को पीटा

पांडे को गिरफ्तार करने वाली टीम को प्रदेश के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने 20,000 रू का इनाम तथा मेडल देने की घोषणा की गई है।

0/Post a Comment/Comments

Stay Conneted

Hot Widget